130 Meter Expressway by June 2011

12 March 2011

नहीं जूझना पड़ेगा जाम से, अथॉरिटी ने लगाने शुरू किए साइनबोर्ड
श्यामवीर चावड़ा ॥ ग्रेटर नोएडा
ग्रेटर नोएडा से नोएडा, गाजियाबाद,

दनकौर और सिकंद्राबाद जाने के लिए सिरसा गांव के पास बनाया जा रहा 130 मीटर एक्सप्रेस-वे अगले 2 महीनों में तैयार हो जाएगा। हालांकि इस एक्सप्रेस-वे पर ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने अभी से ही नोएडा, गाजियाबाद, दनकौर और सिकंद्राबाद तक जाने वाले साइनबोर्ड लगा दिए हैं।

130 मीटर चौड़ा हाइवे ग्रेटर नोएडा में सिरसा गांव के पास से नोएडा के सेक्टर-71 के बीच बनाया जा रहा है। यह 28 किलोमीटर लंबा रोड है, जिसमें अब तक 75 प्रतिशत से ज्यादा काम पूरा हो चुका है। जिन स्थानों पर किसानों और यूपीएसआईडीसी का अवरोध था, वह भी अब दूर हो गया है। अब रुके पड़े स्थानों पर तेजी से निर्माण चल रहा है। ग्रेटर नोएडा से तिलपता तक सड़क बन चुकी है। तिलपता के पास यूपीएसआईडीसी की जमीन आने के कारण निर्माण काम रुका था। अथॉरिटी और यूपीएसआईडीसी के बीच समझौता होने के बाद रोड तिलपता तक पहुंच गई है। वहीं सूरजपुर से आगे नोएडा के सेक्टर-71 तक यह रोड लगभग बन चुकी है। हालांकि बीच के कुछ स्थानों पर फिनिशिंग और कुछ अधूरे टुकड़ों का निर्माण चल रहा है। वहीं डाढा गांव के पास सदर तहसील को जोड़ते हुए यह रोड सिरसा के पास कासना-सूरजपुर रोड को कनेक्ट कर रही है। यहां से बिलासपुर, दनकौर और सिकंद्राबाद जाया जा सकता है।
इसी तरह यह रोड नोएडा और गाजियाबाद के एनएच-24 को कनेक्ट करेगी। गाजियाबाद के पास बहरामपुर के किसानों का मसला हल हो चुका है। लिहाजा करीब डेढ़ किलोमीटर के अधूरे टुकड़े का निर्माण शुरू हो गया है। अब ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने 130 एक्सप्रेस-वे पर गाजियाबाद, नोएडा, भंगेल, सूरजपुर, कासना, बिलासपुर, दनकौर और सिकंद्राबाद जाने के लिए साइन बोर्ड भी लगा दिए हैं। उक्त सभी स्थानों पर जाने के लिए यह एक्सप्रेस-वे एक बेहतर विकल्प बनेगा। इससे बगैर जाम में फंसे नॉन स्टॉप ड्राइव हो सकेगी। अभी भी इस रोड पर वाहन चलने लगे हैं, लेकिन जिन स्थानों पर अभी रोड कच्चा है, वहां सर्विस लेन या पुरानी सड़कों का सहारा ले लिया जाता है। अथॉरिटी के डीसीईओ पी. सी. गुप्ता के अनुसार अगले 2 महीने में यह पूरी तरह बनकर तैयार हो जाएगा। हालांकि इससे पहले अथॉरिटी ने इसे 31 मार्च 2011 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा था।
ग्रेटर नोएडा एरिया में बिसरख के आसपास 130 मीटर हाइवे के किनारे का इलाका बेहतरीन संभावना वाला क्षेत्र बनकर उभर रहा है। प्राइवेट बिल्डर जहां नोएडा एक्सटेंशन के नाम से यहां अपने प्रोजेक्ट लॉन्च कर रहे हैं, वहीं ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी भी इस एरिया के डिवेलपमेंट पर खास ध्यान दे रही है। ग्रेटर नोएडा का यह एरिया नोएडा और ग्रेटर नोएडा से समान दूरी पर स्थित है। इस एरिया को डिवेलप करने के लिए ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के सीईओ के खास निर्देश हैं। 130 मीटर हाइवे जहां नोएडा और गाजियाबाद को जोड़ेगा वहीं सिरसा के पास यह ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे को कनेक्ट करेगा। इसके बाद यह पलवल से सोनीपत तक जुड़ जाएगा।

http://navbharattimes.indiatimes.com/delhiarticleshow/7674668.cms

7 Jan 2011

The work on the balance 5 km stretch of 130 meter expressway has finally started. The expressway would be a key lifeline between Noida-Greater Noida. Infact, major development is expected on this read which will eventually join Jewar airport without paying any toll. Noida Ext area is already seeing hectic action, especially around GNoida sectors (sec 1,2,3,4 etc). The expressway would also provide a link to connect Greater Noida to NH-24. Greater Noida which has seen skewed and flawed development starting from far-away sectors is witnessing more natural growth starting from nearby sectors of Noida and Ghaziabad. The keen interest shown by various builders for residential and commercial plots in Noida Extension is a testimony that if proper infrastructure is provided to a proper location, it would develop much faster. GNoida has also planned a 100m wide commercial belt along this 130 m eway in anticipation of its future importance. For end-users, it is a win-win situation where they can get their dream flats in Noida Ext and builders at other locations in Noida cannot artificially jack-up the flat prices (especially much hyped-up Expressway sectors due to stiff competition from 130 m expressway). The 130 m expressway would provide much shorter route between Noida City Centre/NH-24 and GNoida sectors (Alpha. Beta, Gamma) and Boraki station being developed as India’s largest railway terminal as compared to Expressway and for this reason, Bus corridor (BRT) would be set-up on 130 m expressway.

130 मीटर एक्सपे्रस-वे पर शुरू हुआ काम
7 Jan 2011,

ग्रेटर नोएडा से नोएडा के सेक्टर-71 तक बनाए जा रहे 130 मीटर एक्सप्रेस-वे पर गुरुवार को गुलिस्तानपुर गांव पास किसानों ने अड़ंगा लगाने का प्रयास किया। अथॉरिटी के अफसरों ने भारी संख्या में पुलिस और पीएससी के साथ मौके पर पहुंचकर काम शुरू करा दिया। अथॉरिटी के अफसरों का कहना है कि गांव के किसान जमीन का मुआवजा ले चुके हैं। उन्होंने गैरकानूनी रूप से इस जमीन पर फसल की बुआई कर ली थी। इसके चलते किसान विरोध कर रहे थे।

130 मीटर एक्सप्रेस-वे को जून तक पूरा करना है। किसानों के विरोध के चलते केवल 5 किलोमीटर के हिस्से का निर्माण कार्य अभी रुका हुआ है। गुरुवार को काम चालू कराने के लिए ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के अफसर गुलिस्तानपुर गांव के पास पहुंचे। सूचना मिलने पर गांव के दर्जनों किसान मौके पर पहुंच गए और उन्होंने विरोध करना शुरू कर दिया। किसानों का कहना था कि जिस जमीन पर एक्सप्रेस-वे बनाया जा रहा है, उस पर उनकी फसल खड़ी हुई है। फसल की कटाई तक एक्सप्रेस-वे का निर्माण न किया जाए। अथॉरिटी के सीनियर मैनेजर डी. आर. सिंह, पुलिस और पीएसी मौके पर पहुंच गई। उन्होंने किसानों से कहा कि वह जब जमीन का मुआवजा ले चुके हैं, तो उन्होंने उस जमीन पर फसल की बुआई क्यों की। मुआवजा बांटने के साथ ही यह जमीन अथॉरिटी की हो गई थी। ऐसे में उस पर फसल की बुआई करना गैरकानूनी है। उन्होंने किसानों को कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी। पुलिस और पीएससी की मौजूदगी में अथॉरिटी ने एक्सप्रेस-वे काम शुरू करा दिया है। यह एक्सप्रेस-वे ग्रेटर नोएडा और नोएडा के साथ-साथ गाजियाबाद को भी एनएच-24 के जरिए कनेक्ट करेगा।

Source: http://navbharattimes.indiatimes.com/delhiarticleshow/7232062.cms

130 Meter Expressway To Be Ready by June 2011

Since past two months, there had been good flow of development news including metro for Greater Noida. I would say this is one of the best thing that has happened to Greater Noida (my rating, airport>metro>130m expressway). The development of Greater Noida that should have started from this side of Greater Noida (i.e. Noida Extension), somehow started from wrong side (pari chowk side) and Greater Noida could not develop the way it wanted because of a artificial growth path, instead of a natural growth from habitated area (noida/ghaziabad) to un-habitated area. A big mistake seems to be corrected with time- and here goes the news- Read Ahead

130 मीटर एक्सप्रेस-वे मई तक होगा तैयार
20 Nov 2010, 0400 hrs IST

एक संवाददाता ॥ ग्रेटर नोएडा
शहर की लाइफलाइन कहे जाने वाला 130 मीटर एक्सप्रेस-वे 30 मई तक बनकर तैयार हो जाएगा। एक्सप्रेस-वे पर नोएडा, ग्रेटर नोएडा और 

गाजियाबाद के बीच गाडि़यां फर्राटा भरेंगी। एक्सपे्रस-वे का साढे़ 5 किलोमीटर निर्माण कार्य काफी समय से रुका पड़ा था। शुक्रवार से काम शुरू हो गया है। इस काम पर 30 करोड़ रुपये खर्च होंगे।
अथॉरिटी अफसरों के अनुसार नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे की तरह 130 मीटर एक्सप्रेस-वे शहर की लाइफलाइन बन जाएगा। इसके तैयार हो जाने पर दिल्ली मदर डेरी से सीधे पर्थला खंजरपुर होते हुए नोएडा एक्सटेंशन, ग्रेटर नोएडा और दनकौर पहंुचा जा सकेगा। 130 मीटर एक्सप्रेस-वे का काम नोएडा एक्सटेंशन से आगे खोदना खुर्द, सेनी गांव के पास तक बनकर तैयार हो गया है। उधर ग्रेटर नोएडा शहर में भी डाढ़ा गांव से आगे तक बनकर तैयार हो गया है, लेकिन खोदना खुर्द गांव से लेकर साकीपुर गांव तक किसानों और यूपीएसआईडीसी ने एक्सप्रेस-वे का काम काफी दिनों से रोका हुआ था। करीब साढे़ 5 किलोमीटर एक्सप्रेस-वे के निर्माण को लेकर अथॉरिटी और किसानों और यूपीएसआईडीसी के साथ समझौता हो गया है। यूपीएसआईडीसी को एक्सप्रेस-वे की जमीन के बदले करीब 40 एकड़ जमीन ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने बदले में दे दी है। इसके साथ ही अथॉरिटी ने किसानों के साथ भी समझौता कर लिया है।
अथॉरिटी के इंजीनियरिंग विभाग के अफसरों के अनुसार 5 किलोमीटर एक्सप्रेस-वे के निर्माण पर 30 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसके निर्माण के लिए अथॉरिटी की और से ठेका छोड़ दिया गया है। शुक्रवार से काम शुरू कर दिया गया है। अथॉरिटी इंजीनियरिंग विभाग के अफसरों का कहना है कि 30 मई तक साढे़ 5 किलोमीटर का रुका काम पूरा कर लिया जाएगा।
एक्सप्रेस-वे बनने के बाद ग्रेटर नोएडा के विकास में चार चांद लग जाएंगे। इस एक्सप्रेस-वे पर हाईराइज बिल्डिंगें दिखाई देंगी। अथॉरिटी ने इस एक्सप्रेस-वे पर ही कई बिल्डरों को प्लॉट अलॉट भी कर दिए हैं। इसने अलावा 2 कमर्शल प्लॉट पिछले दिनों अलॉट कर दिए गए हैं।

Source: NavBharat Times

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: