Greater Noida Phase-2- Looking Promising

Gr Noida Ph-II plan ready for approval

Purusharth Aradhak & Ayaskant Das, TNN | May 11, 2011, 03.46am IST

GREATER NOIDA: The Master Plan of the Greater Noida Phase-II development project has been formulated by the Authority and is ready to be put up for approval in the forthcoming board meeting of the authority on May 15. Greater Noida Development Authority CEO Rama Raman said, “Minor glitches in the Master Plan have been fixed and all details of the project have been worked out.”
Unknown Object
Following approval by the board, the projects will begin. The development projects include six expressways, overbridges, flyovers, residential, educational, industrial and commercial hubs. Authority officials said that a scheme for nearly 20,000 residential plots would be launched after the plan is approved. At present, details of this scheme are being worked out.

Apart from the residential project, schemes for group housing societies and setting up industries are also in the plan. In addition, space will be allotted for educational institutes and commercial establishments.

http://timesofindia.indiatimes.com/city/noida/Gr-Noida-Ph-II-plan-ready-for-approval/articleshow/8232883.cms

ग्रेनो एक्सटेंशन का मास्टरप्लान तैयार
5 May 2011, 0400 hrs IST,नवभारत टाइम्स

ग्रेटर नोएडा ।। ग्रेटर नोएडा एक्सटेंशन का मास्टरप्लान बनकर तैयार हो गया है। इसे 15 मई को होने वाली बैठक में बोर्ड से मंजूरी दिलाने के लिए तैयारी की जा रही है। मास्टरप्लान में जो थोड़ी बहुत कमियां थीं, उन्हें सुधार दिया गया है।

अथॉरिटी अफसरों का कहना है कि मास्टरप्लान को मंजूरी मिलने के बाद अथॉरिटी करीब 20 हजार आवासीय प्लॉटों की स्कीम ग्रेटर नोएडा एक्सटेंशन में लाएगी। यह स्कीम हापुड़ और पिलखुवा के आसपास होगी। इसके अलावा यहां कई ग्रुप हाउसिंग स्कीम, इंडस्ट्री, इंस्टिट्यूशनल और कमर्शल स्कीम भी लॉन्च की जाएंगी।
Unknown Object
इससे पहले अथॉरिटी ग्रेटर नोएडा से ग्रेटर नोएडा एक्सटेंशन के लिए 6 एक्सप्रेस-वे बनाएगी। अथॉरिटी अफसरों का कहना है कि ग्रेटर नोएडा एक्सटेंशन में बनने वाले एक्सप्रेस-वे को बोर्ड से पहले ही मंजूरी मिल गई है। प्लानिंग विभाग ने नक्शा भी तैयार कर दिया है। इसके लिए ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने जमीन अधिग्रहण करनी शुरू कर दी है। साथ ही दो एक्सप्रेस-वे पर काम शुरू हो चुका है।

अथॉरिटी अफसरों का कहना है कि ग्रेटर नोएडा का विस्तार कर ग्रेटर नोएडा एक्सटेंशन का रूप दिया गया है। ग्रेटर नोएडा एक्सटेंशन का एरिया हापुड़, पिलखुवा, गुलावठी और सिकंदराबाद तक फैला होगा। ग्रेटर नोएडा एक्सटेंशन एरिया में 189 गांवों को शामिल किया गया है। इसमें करीब 54 हजार हेक्टेयर से अधिक जमीन होगी।

ग्रेटर नोएडा से ग्रेनो एक्सटेंशन में बीच में पड़ रही दिल्ली-हावड़ा रेलवे लाइन पर 4 ओवरब्रिज बनाए जाएंगे। इनमें से दो पर निर्माण कार्य चल रहा है। ये हैं दादरी आरओबी और दनकौर आरओबी। इसके अलावा मारीपत और बोडाकी के पास भी आरओबी का निर्माण कराया जाएगा। इससे वाहन बिना रुकावट सरपट दौड़ सकेंगे।

फायदे की जगह है ग्रेटर नोएडा फेज-2
8 Apr 2011, 2029 hrs IST,नवभारत टाइम्स

नोएडा एक्सटेंशन की सफलता से गदगद ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी अब लोगों को कई और खुली जगहें रहने के लिए उपलब्ध कराने की तैयारी में है। इसी कड़ी में ग्रेटर नोएडा का फेज-2 इलाका भी विकसित किया जा रहा है।

नोएडा एक्सटेंशन और यमुना एक्सप्रेस-वे की तरह ग्रेटर नोएडा फेस-2 एरिया में भी अब जल्दी ही हाईराइज बिल्डिंग बनने लगेंगी। नोएडा एक्सटेंशन एरिया के बाद ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी की नजर अब फेस-2 एरिया में जीटी रोड व पैरिफेरल एक्सप्रेस-वे लगी हुई हैं। अथॉरिटी ने इस इलाके को भी मुख्य ग्रेटर नोएडा की तरह वेल प्लान्ड बनाने की तैयारी कर ली है। इसी कड़ी में इस इलाके में इन्फ्रास्ट्रक्चर से जुड़े तमाम तरह के काम कराए जा रहे हैं।
Unknown Object
ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी इन दिनों ग्रुप हाउसिंग स्कीमों पर काफी ध्यान दे रही है। इसी कड़ी में करीब एक साल पहले ‘नोएडा एक्सटेंशन’ का जन्म हुआ। यह इलाका वास्तव में ग्रेटर नोएडा सेक्टर 4 के आसपास और नोएडा के सेक्टर 121 के पास नोएडा-ग्रेटर नोएडा लिंक रोड पर बसाया जा रहा है। अथॉरिटी ने यहां ग्रुप हाउसिंग स्कीमों की योजना परवान चढ़ाई।

आसमान छूती प्रॉपर्टी की कीमतों वाले नोएडा से लगे एक इलाके में लगभग जमीन पर टिकी कीमतों में घर लेने के लिए लोग टूट पड़े। आज यहां आम्रपाली, गौड़ संस, पैरामाउंट, कई नामी-गिरामी रीयल एस्टेट कंपनियों के घर 9-40 लाख रुपये तक की कीमत में उपलब्ध हैं। आज यह बात किसी से छिपी नहीं है कि ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी को नोएडा एक्सटेंशन में ग्रुप हाउसिंग स्कीमों का बेहतरीन रिस्पॉन्स मिला।

इस सस्ती योजना की भारी सफलता से गदगद ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी कम कीमतों वाले कई और यानी अफोर्डेबल इलाके विकसित करने की योजना पर काम कर रही है। इसी क्रम में जीटी रोड व पैरिफेरल एक्सप्रेस-वे के आसपास के इलाकों पर ध्यान दिया जा रहा है। अब अथॉरिटी इस एरिया में भी ग्रुप हाउसिंग स्कीम लॉन्च करने की तैयारी में जुट गई है। आज डालते हैं फेस 2 एरिया की खासियतों पर एक नजर:

कनेक्टिविटी
फेस-2 एरिया में बसने वाले लोगों को कनेक्टिविटी का काफी लाभ कुछ इस तरह मिलेगा :
– यह एरिया पहले से ही जीटी रोड व रेल मार्ग से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है।
– हरियाणा के कुंडली-पलवल से लेकर सोनीपत तक बनने वाले पैरिफेरल एक्सप्रेस-वे का सबसे बड़ा भाग ग्रेटर नोएडा में ही पड़ेगा।
– नोएडा व ग्रेटर नोएडा से फेस-2 को जोड़ने के लिए ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी सड़कों का जाल बिछा रही है।
– नोएडा-ग्रेटर नोएडा से लोग आसानी से आ-जा सकें, इसके लिए दिल्ली-कानपुर-हावड़ा रेलवे ट्रैक पर पांच रेलवे ओवरब्रिज व एक फ्लाईओवर बनाया जाएगा। इनमें से दो रेलवे ओवरब्रिज और सड़क बनाने का काम शुरू हो गया है।
– मेट्रो का रूट बोडाकी तक आने पर फेस-2 एरिया में बसने वाले लोगों को भी फायदा होगा।

नोएडा-ग्रेटर नोएडा के बीच राह आसान करने के लिए अथॉरिटी कुलेसरा और नोएडा एक्सटेंशन के बीच में हिंडन नदी पर नए पुल का निर्माण कराएगी। इस पुल के बन जाने से नोएडा फेज-2 और ग्रेटर नोएडा एक्सटेंशन का इलाका आपस में कनेक्ट हो जाएगा। पुल के जरिए नोएडा से सीधे बादलपुर और दादरी पहुंचा जा सकेगा। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने पुल के निर्माण के लिए प्लानिंग शुरू कर दी है।

– नोएडा से ग्रेटर नोएडा आने-जाने के लिए अब तक 3 रास्ते हैं, जिनमें डीएससी रोड, एक्सप्रेस-वे और नोएडा एक्सटेंशन में प्रर्थला खंजरपुर के पास हिंडन नदी का पुल शामिल हैं। गौतमबुद्ध बालक इंटर कॉलेज के पास से सीधे बादलपुर के लिए 80 मीटर चौड़ी रोड बनाई जा रही है। यह रोड ग्रेटर नोएडा के फॉर्महाउसों के बीच के होते हुए हिंडन नदी तक बनेगी।

जिस स्थान पर यह रोड हिंडन पर मिलेगी, वहीं एक और पुल बनेगा, जो आगे फेज-2 एरिया में मिल जाएगा। इस पुल से नोएडा और ग्रेटर नोएडा के बीच रास्ता आसान हो जाएगा। लोग नोएडा से सीधे बादलपुर और दादरी आसानी से पहुंच सकेंगे। इस रोड से ही 130 मीटर एक्सप्रेस-वे, पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे भी टच हो जाएगा।

एजुकेशन व जॉब्स
इस इलाके में एक प्राइवेट यूनिवर्सिटी कई कोर्सेज करा रही है, तो करीब एक दर्जन से अधिक इंजिनियरिंग कॉलेज व इंटर कॉलेज खुले हुए हैं। यहां पहले से भी कई बड़ी इंडस्ट्रीज चल रही हैं। भविष्य में कई और के आने की उम्मीद है।

संभावनाएं
रीयल एस्टेट एक्टिविटी को तेजी से बढ़ाने के पीछे सबसे अहम रोल कनेक्टिविटी का होता है। खासतौर से दिल्ली से सीधी कनेक्टिविटी। ग्रेटर नोएडा का फेस-2 एरिया इस पैमाने पर बिल्कुल खरा उतरता है। इसके बाद, जॉब्स और एजुकेशन का भी काफी महत्व होता है। इस इलाके में कई बड़ी इंडस्ट्रीज होने से उनमें काम करने वाले एंप्लॉइज के लिए आसपास ही रिहाइशी इलाकों की डिमांड भी बढ़ रही है।

भविष्य में और इंडस्ट्रीज आने से रेजिडेंशियल सेक्टर में मांग में और बढ़ोतरी होने की उम्मीद है। इसी संभावना को पहचानते हुए यहां रीयल एस्टेट गतिविधियां तेज भी हो गई हैं। फेस-2 एरिया में दो प्राइवेट बिल्डर हाईटेक सिटी व टाउनशिप बसा रहे हैं।

अथॉरिटी की तैयारी
फेस-2 एरिया में संभावनाओं को पहचानते हुए ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी भी भरपूर फायदा उठाने की तैयारी में लग गई है। बादलपुर के पास दो बड़े पार्कों का निर्माण कराया जा रहा है। अथॉरिटी अफसरों का कहना है कि फेस-2 एरिया को विकसित करने में ज्यादा खर्चा व समय भी नहीं लगेगा। यहां जल्दी ही ग्रुप हाउसिंग स्कीम लॉन्च की जाएगी। स्कीम के लिए कई बड़े बिल्डर इनवेस्ट करने को तैयार हो गए हैं।

इस स्कीम से लोगों को दिल्ली के पास एक खुले स्थान पर बसने का मौका मिलेगा। जल्दी ही स्कीम के लिए जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई शुरू की जाएगी।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: